Monday, December 5, 2022
Home शहर - कानपुर में केस्को विभाग का काला कारनामा,,काले खेल में शामिल है...

– कानपुर में केस्को विभाग का काला कारनामा,,काले खेल में शामिल है सत्ताधारी सरकार के कुछ नेता,आम जनता की नही है परवाह,,, एंकर- यूं तो आप ने बहुत सुना होगा कि सरकार और उसके सरकारी विभाग आम जनता की हिफाजत व उनकी समस्याओं का समाधान करने के लिए होते हैं लिहाजा मकसद होता है कि जनता के हित के ही बात हो,लेकिन साहब यहाँ कानपुर के विद्यार्थी नगर इलाके की तस्वीर कुछ और ही बयां कर रही है वॉइस ओवर- गौरतलब है कि मामला कानपुर के विद्यार्थी नगर इलाके का है जहां पर तकरीबन दर्जनों घरों के लोग कानपुर की केस्को एमडी से पीड़ित हैं आप को बता दें कि आखिर इन घरों की समस्या क्या है सुनिए जरा आप भी और बताइए क्या सही है और क्या गलत दरअसल दर्जनभर घरों की समस्या के एक बहुत बड़ा कारण है ,,कारण यह है कि जिस मोहल्ले भर में ये घर हैं उस घर की गली की चौड़ाई मात्र गलभग 10 फिट की है और उस छोटी सी गली में पहले से ही घरेलू बिजली की लाइन पड़ी हुई है और अब उसी लगभग 10 फिट की गली में दूसरी लाइन डाली जा रही है।देखिए ये तस्वीर वॉइस ओवर 2- आखिर समस्या इतनी गंभीर क्यो है आप को बतां दे कि जो दर्जन भर घर पड़ने वाली दूसरी बिजली लाइन का विरोध कर रहे हैं उनकी एक समस्या का और भी कारण सामने आया है।कारण यह है कि अगर बिजली विभाग उसी गली मोहल्ले में बिजली लाइन डालता है तो जान माल का खतरा भी बढ़ जाएगा,,,,, आप को बतां दें कि अब दर्जनों भर घरों की महिलाओं ने मोर्चा खोल दिया है उनका अपना आरोप क्षेत्रीय पार्षद के खिलाफ व अन्य लोंगो पर भी है वर्तमान में बीजेपी पार्षद विनोद पाल उसी वार्ड में विवादित व्यक्ति के श्रेड़ी में आतें है आरोप है पार्षद ने अपने दो अपने मिलने वालों घरों को बचाने के लिए दर्जन भर घरों की जान जोखिम में डाल रहा है और स्थानीय पुलिस बल के दबाव के रौब झाड़ रहा है आप को ये भी बतां दे की यह मुद्दा काफी संगीन है जिसके चलते कुछ महिलाओं ने के

    • स्लग- कानपुर में केस्को विभाग का काला ,कारनामा,,काले खेल में शामिल है सत्ताधारी सरकार के कुछ नेता,आम जनता की नही है परवाह,,,

एंकर- यूं तो आप ने बहुत सुना होगा कि सरकार और उसके सरकारी विभाग आम जनता की हिफाजत व उनकी समस्याओं का समाधान करने के लिए होते हैं लिहाजा मकसद होता है कि जनता के हित के ही बात हो,लेकिन साहब यहाँ कानपुर के विद्यार्थी नगर इलाके की तस्वीर कुछ और ही बयां कर रही है

वॉइस ओवर- गौरतलब है कि मामला कानपुर के विद्यार्थी नगर इलाके का है जहां पर तकरीबन दर्जनों घरों के लोग कानपुर की केस्को एमडी से पीड़ित हैं आप को बता दें कि आखिर इन घरों की समस्या क्या है सुनिए जरा आप भी और बताइए क्या सही है और क्या गलत दरअसल दर्जनभर घरों की समस्या के एक बहुत बड़ा कारण है ,,कारण यह है कि जिस मोहल्ले भर में ये घर हैं उस घर की गली की चौड़ाई मात्र गलभग 10 फिट की है और उस छोटी सी गली में पहले से ही घरेलू बिजली की लाइन पड़ी हुई है और अब उसी लगभग 10 फिट की गली में दूसरी लाइन डाली जा रही है।देखिए ये तस्वीर

वॉइस ओवर 2- आखिर समस्या इतनी गंभीर क्यो है आप को बतां दे कि जो दर्जन भर घर पड़ने वाली दूसरी बिजली लाइन का विरोध कर रहे हैं उनकी एक समस्या का और भी कारण सामने आया है।कारण यह है कि अगर बिजली विभाग उसी गली मोहल्ले में बिजली लाइन डालता है तो जान माल का खतरा भी बढ़ जाएगा,,,,,

आप को बतां दें कि अब दर्जनों भर घरों की महिलाओं ने मोर्चा खोल दिया है उनका अपना आरोप क्षेत्रीय पार्षद के खिलाफ व अन्य लोंगो पर भी है वर्तमान में बीजेपी पार्षद विनोद पाल उसी वार्ड में विवादित व्यक्ति के श्रेड़ी में आतें है आरोप है पार्षद ने अपने दो अपने मिलने वालों घरों को बचाने के लिए दर्जन भर घरों की जान जोखिम में डाल रहा है और स्थानीय पुलिस बल के दबाव के रौब झाड़ रहा है

आप को ये भी बतां दे की यह मुद्दा काफी संगीन है जिसके चलते कुछ महिलाओं ने केस्को एमडी सौम्या अग्रवाल से शिकायत भी की थी लेकिन शिकायत का कोई सही अर्थ सामने नही आया और कुछ दिन बाद फिर केस्को के कुछ अधिकारी लाइन डालने फिर पहुंचे तो क्षेत्रीय महिलाओं ने जमकर विरोध किया और केस्को विभाग का दल बल वापस हो गया जिसके बाद देर रात स्थानीय थानेदार भी पहुंचे उनका भी अपना एक रुतबा सामने आया उन्होंने तो महिलाओं से यह तक कह दिया कि खम्बा व लाइन यहीं से गुजरेगा अगर ज्यादा कोई महिला विरोध करेगी को सबके ऊपर मुकदमा लिखकर जेल भेज दूंगा,,वाह रे थानेदर

वहीं जब हमारे रिपोर्टर ने केस्को एम डी सौम्या अग्रवाल से इस मामले की जानकारी की तो कुर्सी बैठी मेम साहब ने जांच का हवाला देते हुए अपनी बात रखी और बताया कि इस मामले में जगह की स्थिति देखी जाएगी जो उचित होगा वही करवाया जाएगा

दरअसल अब आप को भी बतां दें जो पीड़ित हैं उनका साफ तौर कहना है कि अगर उस छोटे से मोहल्ले में दो बिजली की लाइन डाली जाएगी तो सभी घरों की महिलाएं उसी बिजली की लाइन में लटककर अपनी जान दे देंगी

अब देखना ये होगा कि जो सरकार व उसके विभाग जनता की समस्या को खत्म या समाधान करेंगे की उनकी मौत को दावत देंगे।

रिपोर्टर संजीव कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read